वास्तु शास्त्र: घर में की गई यह एक गलती आपको अपनों से कर देती है दूर, उठाना पड़ता है आपको आर्थिक नुकसान!

वास्तु शास्त्र: घर में की गई यह एक गलती आपको अपनों से कर देती है दूर, उठाना पड़ता है आपको आर्थिक नुकसान!

Must read

मोहित नागर
मोहित नागर
मोहित नागर एक कंटेंट राइटर है जो देश- विदेश, पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ और वास्तु से जुड़ी खबरों पर लिखना पसंद करते हैं। उन्होंने डॉ० भीमराव अम्बेडकर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। मोहित को लगभग 3 वर्ष का समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम करने का अनुभव है।

वास्तु शास्त्र का हमारे जीवन में बेहद महत्व है, घर का निर्माण, घर में हर एक स्थान के लिए सही दिशा और किस वस्तु को कहा रखना है इसको लेकर नियम कानून है। वास्तु शास्त्र के मुताबिक घर का निर्माण और सजा हुआ घर हमेशा ही खुशियों से भरा रहता है और वहां पर रहने वाले लोगों का स्वास्थ्य व सौभाग्य भी परिपूर्ण रहता है। साथ ही उस घर से आर्थिक संकट भी दूर रहता है।

अक्सर हम में से बहुत से लोग इसी सोच में डूबे रहते हैं कि घर में किन चीजों का रखना शुभ और किन चीजों को रखने से घर अशुभता आने लगती है। आपकी जानकारी के लिए बता दें की घर में कभी भी कांच से बनी कोई भी चीज यदि टूट गई है तो उसे बहार फेक दें, यदि आप ऐसा नहीं करते हैं तो आपके साथ कुछ अशुभ हो सकता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार हमारे घर में टूटा हुआ शीशा नकारात्मक ऊर्जा को घर की ओर आकर्षित करता है और इसी वजह से धन की देवी मां लक्ष्मी भी रूठ जाती है और घर में दरिद्रता अभी आने लगती है।

1. टूटा हुआ शीशा

वास्तु शास्त्र के मुताबिक घर में टूटा हुआ शीशा नहीं रखना चाहिए क्योंकि इस शीशे में पढ़ने वाली लाइट से जो नकारात्मक ऊर्जा निकलती है उसका प्रभाव घर में और घर के सभी लोगों पर पढ़ने लगता है। ऐसा होने की वजह से परिवार के सभी सदस्यों में एक दूसरे के प्रति नफरत पैदा होने लगती है।

2. टूटी या फूटी चीजें

वास्तु शास्त्र के मुताबिक हमें हमेशा ही घर में मौजूद टूटने फूटने वाले सामानों का खास ध्यान रखना चाहिए। क्योंकि माना जाता है कि इस वजह से आपके घर में नकारात्मक ऊर्जा का निर्माण होने लगता है और व्यक्ति मानसिक परेशानियां झलने लगता है। इसमें दर्पण,फर्नीचर, पलंग, घड़ी, टूटे-फूटे बर्तन, इलेक्ट्रॉनिक सामान, तस्वीर, दीपक, झाड़ू, मग और कप आदि।

3. शीशा लगाने की सही दिशा

वास्तु के अनुसार हमें शीशा हमेशा ही ईशान कोण यानी उत्तर पूर्व के कोने में ही लगाना चाहिए। ऐसा माना जाता हैं कि ये स्थान घर का सबसे श्रेष्ठ स्थान होता है और इस दिशा में शीशा लगाने से उसकी ऊर्जा दोगुना कर देता हे।

4. कमरे के अंदर वाले दरवाजे पर ना लगाएं शीशा

वास्तु शास्त्र के मुताबिक हमें कभी भी कमरे के अंदर की ओर दरवाजे पर दर्पण नहीं लगाना चाहिए। यदि आप यहां लगाते हैं तो इससे आपके परिवार को शारीरिक तकलीफों से गुजरना पड़ सकता है आपको बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

ये भी पढ़े अगर आर्थिक तंगी का कर रहें है सामना तो आज ही कर लें ये खास उपाय, अवश्य मिलेंगे लाभ ?

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article