जाने घर की किस दिशा में कौन से रंग का उपयोग होता है शुभ, और क्या है इसके लाभ!

जाने घर की किस दिशा में कौन से रंग का उपयोग होता है शुभ, और क्या है इसके लाभ!

Must read

मोहित नागर
मोहित नागर
मोहित नागर एक कंटेंट राइटर है जो देश- विदेश, पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ और वास्तु से जुड़ी खबरों पर लिखना पसंद करते हैं। उन्होंने डॉ० भीमराव अम्बेडकर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। मोहित को लगभग 3 वर्ष का समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम करने का अनुभव है।

हमारे जीवन में रंगों का बहुत महत्व है। हमारे पास हर एक चीज का एक अलग रंग, प्रकृति का अलग यहां तक की हम इंसानो में एक दूसरे की पहचान भी सबसे पहले रंग से की जाती है। वहीं वास्तु भी हमारे जीवन में बेहद महत्वपूर्ण है, घर का निर्माण या चीजों की सही दिशा जानने के लिए वास्तु शास्त्र के नियमों को जाना जाता है। ठीक इसी प्रकार घर में किस दिवार पर कौन सा रंग होना चाहिए इसको लेकर भी वास्तु शास्त्र में जानकारी दी गई है।

आपको बता दें रंगों का प्रभाव हमारे जीवन में पड़ता है। यदि आपके घर में लाल रंग है तो ये जुनून का रंग है, सफेद रंग है तो ये शांति का है और वहीं अगर हरा रंग होता है तो ये ईर्ष्या का रंग माना जाता है। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से रंगों को लेकर वास्तु शास्त्र में बताए गए कुछ नियमों के बारे में जानकारी देंगे।

वास्तु शास्त्र में रंगों को लेकर नियम

जैसा की हम सभी जानते है वास्तु शास्त्र पांच महान तत्वों पर आधारित होता है, पृथ्वी, जल, वायु, अकाश और अग्नि। माना जाता हैं कि हमारा शरीर, हमारा घर, पूरा ब्रह्मांड केवल पांच तत्वों से बना है। वास्तु के इन तत्वों में सभी का एक अलग रंग दर्शाया गया है। यदि आप वस्तु के बताए गए नियमों के अनुसार इन रंगों को अपने घर में लगाते हैं तो इससे सकारात्मक ऊर्जा, सुख-शांति और समृद्धि प्राप्त होने लगती है। इसके अलावा आपके रास्ते आसान होने लगते हैं और आप प्रभावित व्यक्ति बनते हैं।आइए जाने किस दिशा में कौन सा रंग करना होता है शुभ।

  • उत्तर दिशा

वास्तु के मुताबिक हमें उत्तर दिशा में हमेशा ही नीले या सफेद रंग का उपयोग करना चाहिए। क्योंकि यह दिशा पाने की दिशा है और उस क्षेत्र में पानी का रंग करना शुभ माना जाता है।

  • पूर्व दिशा

वास्तु शास्त्र के मुताबिक पूर्व दिशा में हमें हमेशा ही लाल गुलाबी पीने और नारंगी रंगों का उपयोग करना चाहिए। क्योंकि ये दिशा सूर्य की दिशा होती है और इस दिशा में इस तरह के रंगों का इस्तेमाल करने से शांति बनी रहती है।

  • पश्चिम दिशा

वास्तु शास्त्र के अनुसार पश्चिम में शनि की दिशा मानी जाती है। यदि हम इस दिशा में गहरा नीला या काला रंग का इस्तेमाल करते हैं तो यह शुभ होता है। साथ ही ज्ञात रहे कि इस दिशा में कम से कम रंगों का उपयोग करें।

  • दक्षिण दिशा

वास्तु के मुताबिक दक्षिण दिशा में रंगों को लेकर हमेशा सावधानी बरतनी चाहिए। क्योंकि इस दिशा पर कमांडर और प्रमुख मंगल का शासन होता है। इस दिशा में अधिकतर लाल रंग का उपयोग करना चाहिए। इसके अलावा इस क्षेत्र में आप पृथ्वी के रंगों में उपयोग होने वाले रंगों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

ये भी पढ़े यदि आपके घर में भी उगने लगा है पीपल तो हो जाएं सावधान, नाराज है आपके मृत पूर्वज, करें ये उपाय!

More articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisement -

Latest article