11.1 C
Delhi
बुधवार, फ़रवरी 8, 2023

जानिए 26/11 हमले में अपनी हिम्मत से आतंकियों को धूल चटाने वाले मेजर संदीप उन्नीकृष्णन के बारे में

26/11 के आतंकी हमले ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया था। ये वो दिन था, जब कई लोगों ने अपनों को खोया था, कुछ जो बच गए थे ऐसा लग रहा था मानों उनको एक नया जीवन मिला है। आज इतने सालों बाद भी जब उस दिन को याद करते हैं, तो रोंगटे खड़े हो जाते हैं।

26/11 अटैक में आतंकियों ने 150 से ज्यादा लोगों को मार गिराया था। इस बीच जो डट कर खड़े रहे थे, वो थे हमारे जवान। इन्हीं जवानों में से एक थे संदीप उन्नीकृष्णन। आतंकियों से लड़ते-लड़ते और लोगों को बचाते-बचाते मेजर संदीप उन्नीकृष्णन ने अपनी जान तक न्योछावर कर दी और शहीद हो गए।

Shaheed Sandeep Unnikrishnan

ये बात तब की है, जब आतंकियों को खत्म करने के लिए 51 स्पेशल एक्शन ग्रुप ने ऑपरेशन ब्लैक टॉरनेडो चलाया था। मेजर उन्नीकृष्णन इसी ऑपरेशन में 10 कमांडो की एक टीम को लीड कर रहे थे।

 ये भी पढ़े Shraddha Murder Case: श्रद्धा ने हत्या से ठीक पहले दोस्त को किया था मैसेज, सामने आयी लास्ट चैट।

सभी कमांडो, 28 नवंबर को होटल ताज में दाखिल में हुई थी। होटल की तीसरी मंजिल पर कुछ महिलाओं को आतंकियों ने बंधक बनाकर रखा था और कमरा अंदर से बंद था। जब मेजर संदीप अपने साथी कमांडो सुनील यादव के साथ अंदर गए, तभी यादव को गोली लग गई। मेजर संदीप ने यादव को वहां से बाहर निकलवाया।

कुछ समय बाद जब वह दूसरी मंजिल पर पहुंचे तभी उनकी पीठ पर गोली लग गई। लेकिन गोली लगने के बाद भी उनके हौसले नहीं टूटे। उन्होंने अपने साथियों से कहा, ‘ऊपर मत आना मैं उन्हें संभाल लूंगा।’ उसके बाद जो हुआ, उसने सबको हैरान कर दिया, एक के बाद एक दोनों तरफ से गोलियों की आवाज़ें आ रही थी। लेकिन वो आवाज़ें अचानक बंद हो गई। देश के मन में सुकून तो था, कि अब सारे आतंकी मारे गए। लेकिन साथ में आंखों में आंसू भी थे। आंसू संदीप उन्नीकृष्णन के लिए जिन्होंने 28 नवंबर 2008 के ही दिन दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया।

 ये भी पढ़े  पाकिस्तान ने विदेश मंत्रालय के ड्राइवर को हनी-ट्रैप में फंसाया, ‘जासूसी’ के आरोप में किया गया गिरफ्तार

मोहित नागर
मोहित नागर
मोहित नागर एक कंटेंट राइटर है जो देश- विदेश, पॉलिटिक्स, एंटरटेनमेंट, हेल्थ और वास्तु से जुड़ी खबरों पर लिखना पसंद करते हैं। उन्होंने डॉ० भीमराव अम्बेडकर कॉलेज (दिल्ली यूनिवर्सिटी) से अपनी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है। मोहित को लगभग 3 वर्ष का समाचार वेब पोर्टल एवं पब्लिक रिलेशन संस्थाओं के साथ काम करने का अनुभव है।

Related Articles

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Latest Articles